होली 2024

फाल्गुन मास की पूर्णिमा को होली का पर्व मनाया जाता है। दो दिन मनाए जाने वाले इस पर्व में पहले दिल होलिका दहन किया जाता है। इसका संबंध भक्त प्रह्लाद की कहानी से है, जो भगवान विष्णु के भक्त थे। प्रह्लाद को मारने के लिए उनके पिता हिरण्यकश्यप ने उन्हें होलिका की गोद में बिठा दिया था, जिससे वह जिंदा अग्नि में जल जाए। लेकिन भगवान ने भक्त पर अपनी कृपा की और प्रह्लाद के लिए बनाई चिता में स्वयं होलिका जलकर मर गई। इसलिए इस दिन होलिका दहन की परंपरा भी है। इसके अगले दिन रंगों से होली खेली जाती है। इस पर्व पर बच्चे से लेकर बूढ़े तक एक-दूसरे को रंग और गुलाल लगाकर खुशियां मनाते हैं। एक तरफ जहां बड़े आशीर्वाद देते हैं, वहीं छोटे भी होली की मस्ती में रंग जते हैं। मथुरा की होली देश और विदेश में भी प्रसिद्ध है। यहां की लड्डू होली और लट्ठमार होली देखने के लिए लाखों लोग मथुरा जाते हैं। मान्यता है कि घर में सुख-शांति और समृद्धि के लिए होली की पूजा की जाती है। होली से 8 दिन पहले होलाष्टक शुरू हो जाते हैं, जो कि होलिका दहन तक रहते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, होलाष्टक के दौरान कोई भी मांगलिक कार्य की मनाही होती है। इसलिए होलाष्टक प्रारंभ होने के साथ ही शुभ कार्यों पर रोक लग जाती है। माना जाता है कि होली से 8 दिन पहले तक सभी ग्रहों को स्वभाव उग्र होता है। ग्रहों की स्थिति को शुभ नहीं माना जाता है। शास्त्रों के अनुसार, होलाष्टक की अवधि में किए गए कार्यों का फल प्राप्त नहीं होता है।और पढ़ें
  • होलिका दहन:24मार्च
  • होलिका दहन का मुहूर्त:24मार्च 11:13pm से 12:33 am
  • रंगों की होली:25मार्च

होली खेलन आयो श्याम

नीचे रंगों के विकल्प दिए गए हैं, उन पर क्लिक करके आप कान्हा के साथ होली खेल सकते हैं। सब्मिट करने के बाद आप इसे अपनों के साथ शेयर भी कर सकते हैं।

अब तक इतने लोग खेल चुके हैं कान्हा संग होली:
  • 7
  • 9
  • 4
  • 4
कैसे खेलें कान्हा के संग होली
Area 1
Area 2
अपना नाम बताएं:
कान्हा को रंग चुके हैं:
  • triloki
  • rahul
  • Pagle
  • Madhur govind
  • Chutiya
  • Arun Kumar Tiwari
और देखें

तस्वीरों में होली

और पढ़ें

स्किन और बॉडी से नहीं निकल रहा होली का रंग तो अपनाएं ये आसान टिप्स

अक्षय-टाइगर और दिशा से कियारा-सिद्धार्थ तक, सिलेब्स ने कुछ ऐसे मनाई होली

देशभर में होली की रौनक, सुबह से ही खरीदारी करते नजर आए लोग

होली पर इन खूबसूरत संदेशों के जरिए अपनों को बोलें-'हैप्पी होली 2024'

होली पार्टी में बीयर पीने का है प्लान? हैंगओवर से बचा सकती हैं ये टिप्स

होली के दिन इन 7 चीजों का न करें दान, जानें क्या करें और क्या नहीं ?

वेब स्टोरीऔर पढ़ें

अच्छा खाएं अच्छा बनाएं

होली से जुड़े सवाल-जवाब

  • होली हिन्दी पंचांग से किस महीने में आती है और होलिका दहन में कब होता है?

    हिन्दी पंचांग के अनुसार होली फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाई जाती है। होलिका दहन पूर्णिमा की रात को किया जाता है और इसके बाद रंगों का त्योहार अगले दिन पड़वा के दिन मनाते हैं।

  • प्रसिद्ध लट्ठमार होली कहां खेली जाती है?

    ब्रज में यह त्योहार होली से 40 दिन पहले शुरू होता है। जिसकी शुरुआत बरसाना से होती है। बरसाने की लट्ठमार होली देखने देश से ही नहीं विदेशों से भी लोग आते हैं। रंगों की होली खेलने से पहले यहां की महिलाएं लट्ठमार होली खेलते हैं, जिसमें महिलाएं पुरुषों पर लाठी बरसाती हैं।

  • होली के त्योहार से कौन सी कहानी जुड़ी है?

    होली के त्योहार से भक्त प्रहलाद और हिरण्यकश्यप की कहानी जुड़ी है। ऐसा कहा जाता है कि भक्त प्रहलाद जो भगवान विष्णु का भक्त था, जिसे मारने के लिए उसके पिता हिरण्यकश्यप ने उसे होलिका की गोद में बिठा दिया था, जिससे वह जिंदा अग्नि में जल जाए। लेकिन भगवान ने भक्त पर अपनी कृपा की और प्रह्लाद के लिए बनाई चिता में स्वयं होलिका जलकर मर गई। इसलिए इस दिन होलिका दहन की परंपरा भी है।

  • होलिका कौन थी और उसे क्या वरदान मिला हुआ था?

    होलिका हिरण्यकश्यप की बहन थी और उसे आग में न जलने का वरदान मिला था।

link: zz